मिलवाटखोरी के खिलाफ प्रशासन लगातार अभियान चला रही है। लेकिन इंदौर में मिलावटखोर मानने को तैयार नहीं हैं। लोगों की सेहत से खिलवाड़ के लिए मिलावटखोर बेखौफ होकर काम कर रहे हैं। इंदौर में सड़े आलुओं को केमिकल से चमका कर मिलावटखोर चिप्स तैयार कर रहे थे। फैंक्ट्री के अंदर से बदबू इतनी आ रही थी कि छापेमारी के लिए गए अधिकारियों को मुंह रूमाल से ढंकना पड़ा था।

दरअसल, इंदौर में सोमवार को एमपी खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारियों ने आलू और चिप्स उत्पादन कंपनी पर छापेमारी की थी। अतिरिक्त कलेक्टर अभय बेडेकर ने कहा कि फैक्ट्री में सड़े हुए आलू का इस्तेमाल किया जा रहा था। इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं, प्रशासन ने छापेमारी के बाद फैक्ट्री को सील कर दिया है।

हाइड्रो पाउडर का करते थे उपयोग
चिप्स फैक्ट्री के संचालक सड़े हुए आलुओं को चमकाने के लिए हाइड्रो पाउडर का इस्तेमाल करते थे। इसी से आलू को वॉश किया जाता था। उसके बाद चिप्स तैयार होता था। यह फैक्ट्री इंदौर शहर के अवंतिका नगर में है। सांवरिया फूड प्रोडक्ट के नाम से संचालित होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.