दशहरे की रात दोस्तों के साथ शराब पार्टी कर रहे चार युवक इंदौर पहुंचे और वहां से एक युवक को जबरदस्ती अपनी सफारी गाड़ी में बैठा कर उसके साथ मारपीट करते हुए उसे इंदौर से बड़नगर लाए। जहां पर आरोपियों ने अपहृत युवक को रात्रि में शासकीय हॉस्पिटल लाए तथा हॉस्पिटल परिसर में भी उसके साथ मारपीट की, जिसके बाद उसे खेत पर बने सुनसान मकान के कमरे में बंद कर दिया और 3 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई। आपको बता दें कि इंदौर निवासी प्रभात कुमार पिता रमेश चंद्र दुबे जो मूलतः सीपी कॉलोनी आदित्य नगर, मुरार ग्वालियर का रहने वाला है जो इंदौर में सोलर प्लांट में काम करता है और इंदौर में ही रहता है। 5 अक्टूबर को रात्रि में वह अपनी बहन के घर इंदौर गया हुआ था और रात्रि में करीब 9:15 बजे घर के बाहर टहल रहा था तभी उसके पूर्व परिचित राजा तोमर का फोन आया और कहा कि मुझे तुझसे बात करना है।

 

मैं इंदौर आ रहा हूं तुम मुझे रेडिसन होटल के आगे मिलो। जब युवक प्रभात दुबे रेडिसन होटल के आगे सर्विस रोड पहुंचा तो वहां पर राजा तोमर अपने साथियों के साथ आया और प्रभात दुबे से कहा कि चल मेरी गाड़ी में बैठ जा। प्रभात में गाड़ी में बैठने से मना किया तो सभी आरोपियों ने उसे जबरदस्ती गाड़ी में बिठाया और गाली गलौज करने लगे और गाड़ी के अंदर ही युवक के साथ मारपीट करने लगे और मारपीट करते करते युवक को बड़नगर ले आए जब आरोपी आपस में गाड़ी में बात कर रहे थे। तब युवक प्रभात को पता चला कि आरोपी राजा तोमर के अन्य 3 साथी का नाम सचिन तोमर, बादल गांधी, देवेंद्र शर्मा है,जब उक्त चारों आरोपी युवक का अपहरण कर बड़नगर मैं खेत पर बने एक सुनसान मकान के कमरे में बंद कर दिया और उससे कहा कि तू अपने घर से ₹3 लाख मंगा कर हमें दे और यदि पैसे नहीं दिए तो हम तुझे जान से खत्म कर देंगे। जिसके बाद युवक प्रभात में अपनी दोस्त शिखा मेहरा को मोबाइल पर व्हाट्सएप मैसेज कर बताया कि कुछ लोगों ने उसका अपहरण कर लिया है और उसे बड़नगर ले आए हैं और पैसों की मांग कर रहे हैं इसलिए तुम्हारे पास जितने भी रुपए हो मुझे फोन पे कर दो। वही मौका पाकर युवक प्रभात ने अपनी दोस्त शिखा मेहरा को अपने फोन की लोकेशन भेज दी जिसके आधार पर युवक की दोस्त शिखा मेहरा ने डायल हंड्रेड को इसकी सूचना दी और बड़नगर पुलिस मौके पर पहुंची तथा आरोपियों के कब्जे से युवक को छुड़वाया और थाने पर लाए। मौके पर दो आरोपी राजा तोमर व सचिन तोमर मिले जिन्हें पुलिस ने हिरासत में लिया तथा अन्य दो आरोपी बादल गांधी और देवेंद्र शर्मा वहां से भाग गए थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए बडनगर थाना प्रभारी मनीष मिश्र ने त्वरित कार्यवाही करते हुए भागे दोनों आरोपी बादल गांधी और देवेंद्र शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया और बड़नगर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है।बड़नगर से महेश सोनगरा की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *