तराना मैं नवीन उपजेल भवन का भूमि पूजन करने वाली एसडीएम एकता जायसवाल जनप्रतिनिधियों के निशाने पर आ गई है। दरअसल बुधवार को स्थानीय उपजेल तराना के पीछे खाली पड़ी भूमि पर नवीन उपजैल भवन का भूमि पूजन तराना अनुविभागीय अधिकारी एकता जयसवाल की मुख्य अतिथि एवं जेलर दीपक ठाकुर की अध्यक्षता एवं पीडब्ल्यूडी इंजीनियर की उपस्थिति हुआ।भूमिपूजन कार्यक्रम में उपजेल तराना का समस्त स्टाफ पत्रकार गण एवं वरिष्ठ जन उपस्थित थे। इसमें सांसद, विधायक और जिला पंचायत के जन प्रतिनिधियों को नहीं बुलाया गया। तराना एसडीएम के इस कृत्य पर जिला पंचायत सदस्य ओमप्रकाश राजोरिया ने बताया की समाचार पत्रों के माध्यम से मालूम हुआ कि तराना नगर में 1 करोड़ 47 लाख की लागत से जेल का नव निर्माण होना है। उसका भूमि पूजन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें भूमि पूजन तराना एसडीएम के द्वारा किया गया। यह काम निर्वाचित जन प्रतिनिधियों का है। उज्जैन जिला पंचायत सदस्य वार्ड 8 ओमप्रकाश राजोरिया ने तराना एसडीएम को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों को कठपुतली समझने की भूल ना करे एसडीएम। आपका काम भूमि पूजन करना स्वागत करवाना नहीं है, ये जनप्रतिनिधियों का काम है आपके इस रवैया से जन प्रतिनिधियों के सम्मान का अपमान हुआ है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *