मार्च से ही शहर में बंद कोचिंग, कॉलेज व अन्य शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए जल्द ही जानकारों की एक बैठक होगी, जिसमें गाइडलाइन तय की जाएगी। सांसद व जिला आपदा प्रबंधन समूह के अध्यक्ष शंकर लालवानी ने बताया कि अब यही सेक्टर रह गया है, जिसके लिए दिशा-निर्देश तय कर इन्हें मंजूरी देना है। एक सप्ताह में ही बैठक होगी। सभी के सुझाव लेकर कोविड प्रोटोकाल की गाइड लाइन बनाकर मंजूरी जारी की जाएगी।

 

शिक्षाविद् डॉ. अवनीश पांडे बताते हैं कि शहर में 50 बड़ी कोचिंग हैं और छोटे-बड़े मिलाकर एक हजार से ज्यादा संस्थान हैं, जहां डेढ़ लाख से ज्यादा छात्र पढ़ते हैं, इसमें 50 हजार से ज्यादा तो आईआईटी व मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्र हैं। 12वीं की परीक्षा के लिए भी छात्र हैं, जिनके पास अब केवल दो माह का समय बचा है।

भोपाल जिला प्रशासन ने कोचिंग संस्थान को मंजूरी जारी कर दी है और इसके लिए प्रावधान किया है कि एक छात्र सप्ताह में तीन दिन यानी एक दिन छोड़कर एक दिन क्लास आ सकेगा, छात्रों की बैठक व्यवस्था में डिस्टेंसिंग रखना होगी। भाजपा नगराध्यक्ष गौरव रणदिवे ने कहा कि कॉलेज भी बंद हैं, उनका भी काफी नुकसान हो रहा है, कई जगह से शैक्षणिक संस्थान फिर से खोलने की मांग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.